JInn Ko Kabu Me Karne Ka Amal Hindi Me

JInn Ko Kabu Me Karne Ka Amal Hindi Me

JInn Ko Kabu Me Karne Ka Amal Hindi Me

Jinn ko kabu me karne ka amal, “जिन्न को काबू में करने के लिए, सबसे पहले उसके बारे में जानना जरुरी है. ये आग और धुएं दोनों से बने होते है. इंसान के आने से जिन्न पहले पैदा हुए थे. अगर जिन्न आपके काबू में हो जाते है, तो आपके सभी काम को पूरा कर सकते है. लेकिन वो आपके गुलाम नही आपके दोस्त बनकर आपकी हिफाज़त करेंगे.

हर इंसान जिन्न को नहीं देख पाते है, लेकिन दो ऐसे जानवर है. जिसे जिन्न और गैर मख्लूख दिखाई देती है. वो जिन्न है कुत्ता और गधा. जिन्न में हर प्रकार का काम करने की शक्ति होती है. वो अपनी शक्ति से आपके मुश्किल से मुश्किल काम कर सकता है. आज हम आपको कुछ ऐसे आसान और आज़माये हुये अमल बतायेगे. जिसको करने के बाद आप जिन्न को अपने काबू में कर सकते है.

आपने भूत प्रेत जैसी शक्तिया के बार में तो सुना होगा, और उसके साथ ही आपने जिन्न के बारे में बचपन से ही सुनते आ रहे है. आपका सोचना होगा, की क्या आज भी जिन्न जैसी ताक़त इस दुनिया में मौजूद होती है. जी हाँ, आपने सही सुना, इस दुनिया में जिन्न, परी, हमज़ाद और मौक्किल जैसी शक्तियां आज भी ज़िंदा है.

जिन्न को काबू में करने का अमल हिंदी में

कुछ लोगो का मानना है, की जिन्न बुरे होते है. यह इंसान का नुकसान ही करते है. और दूसरी तरह लोगो का मानना है, की जिन्न असल में होते है. उनका वजूद आज ही इस दुनिया पर कायम है.अगर आज इस अमल को करेगे, तो इंशा अल्लाह जिन्न आपके काबू में हो जायेगा. आपकी तमाम परेशानियों से आपको आज़ाद करवा देगा. आज मैं आपको जिन्न को काबू में करने का अमल हिंदी में बताउगा. जिसे करने और समझने में आपको आसानी होगी.

  1. इस जिन्न के अमल को आप किसी भी दिन शुरू कर सकते है.
  2. अमल की एक खास बात है, की इस अमल को औरत और मर्द दोनों कर सकते है, लेकिन बच्चे इस अमल को नही कर सकते है.
  3. यह 3 दिन का अमल है, जिसके दौरान अपने 3 दिन तक बिलकुल पाक साफ़ रहना है.
  4. अमल रात को 12 से 12;30 के बीच में करना है, इसलिए सुबह अमल का सामान ले आये. जैसे 1 अगरबती, गुलाब का इत्र, एक नया सफ़ेद लिबास, और कुछ लाल गुलाब के फूल.
  5. सारा सामान ले कर रात को किसी वीरान या तन्हाई वाली जगह पर चले जाये, जहाँ किसी इंसान का आना जाना न हो.
  6. सबसे पहले आपने 3 बार आयतल कुर्सी और 3 बार सौराह जिन्न पढ़ कर एक चाकू पर फूँक मर मार देनी है, और एक गोल घेरा बना लेना है. आपके हिसार की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी.
  7. अमल कुछ इस तरह से है, अपने 11-11 शुरू और आखिर में कोई भी दुरूद ए पाक पढ़ना है. उसके बीच में आपको 7 बार “या कदीर वा कदीर करदे मोहनी जिन्न को हाज़िर” पढना है.

अगर आप इस जिन्न अमल को यकीन और मजबूत दिल के साथ करेंगे, तो इंशा अल्लाह आपको जिन्न दिखाई देगा. और बिना आपके बारे में जाने आपसे दोस्ती भी कर लेगा जिन्न दो प्रकार के होते है, एक रूहानी और दूसरा सिफलि जिन्न रूहानी वाले जिन्न इंसान के बारे में अच्छा सोचते है, और उसके काम में उनकी मदद करते है. सिफलि जिन्न लोगो को नुकसान और बर्बाद करने की कोशिश करते है. वैसे तो जिन्न का स्वभाव बहुत कोमल होता है. लेकिन जब इनने गुस्सा आता है, तो वो अपने मालिक की भी बात नहीं सुनते है.

हमेशा जिन्न अपने रहने की जगह इंसानी बस्ती से दूर ही बनते है. जिन्न को सुनसान और वीरान जगह बहुत पसंद होती है. अगर कोई घर खाली है, उस घर में कोई आता जाता नही हो. और उसमे 3 महीने से कोई रोशनी या चिराग नहीं जलाया जाता है. तब जिन्न उस घर पर अपना कब्ज़ा कर लेते है.

जिन्नात कभी किसी से डरते नही है, वो सिर्फ अल्लाह के नाम से डरते है, अगर आप सोच रहे है, की जिन्न को डरा कर आप उसको काबू में क कर लेंगे, तो आपकी सबसे बड़ी गलतफमी होगी. जिन्न कल भी थे और आज भी है. जिन्न बहुत समझदार और बुद्धिमान होते है, वो इंसान को उसके भविष्य के बारे में भी बता सकते है.

आज के समय में इंसान का मन स्वार्थी और लालची है. वो सिर्फ अपने स्वार्थ के बारे में सोचता है. इंसान सोचता है, की एक बार जिन्न को काबू में कर ले. उसके बाद उससे पैसे मंगवा सकते है. हम आपको बता दे की जिन्न कोई पैसो की मशीन नहीं है, जो आपको पैसे ले कर देगा. वो सिर्फ आपको एक अच्छा रास्ता दिखेगा, बाकि उस पर चलना आपका काम है.

उनकी एक अलग दुनिया है, वे उस क्षेत्र के मालिक हैं, जिन्न जिन्नात को काबू में कैसे करे, इस्लाम में ऐसी शक्ति को जिन्न कहा जाता है, जिन्न मनुष्य का कोमल शरीर है. जिन्होंने शरीर धारण किया है. वो स्थूल शरीर है, जिसके अंदर सूक्ष्म शरीर, आकाश शरीर, मानस शरीर, आत्मिक शरीर, निर्माण शरीर मौजूद होते है. जब किसी व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है, तो उनका कोमल शरीर समाप्त हो जाता है. लेकिन सूक्ष्म का शरीर एक नया शरीर ग्रहण करता है. यदि इस सूक्ष्म शरीर को मोक्ष की प्राप्ति नहीं होती है, इसलिए वे जिन्न का रूप ले लेते हैं.

इस्लाम के अनुसार जो मरने के बाद भी इस दुनिया में भटकता रहता है, उन्हें जिन्न या जिन्नात कहा जाता है. ऐसा माना जाता है कि ज्यादातर जिन्न इंसानों को नुकसान पहुंचाते हैं. इंसानों को हानि न पहुँचाने वाले जिन्न बहुत कम होते है. जिन्न इंसान के शरीर अपने वश में करने की भी ताक़त रखते है. बहुत सारे जिन्नो में उड़ने और गायब होने की भी शक्ति होती है. वे इन शक्तियों का उपयोग मनुष्यों को डराने के लिए करते हैं.

जिन्न हमेशा धार्मिक स्थलों से दूर रहते हैं. इनमें से अधिकतर निर्जन स्थान उनके रहने का स्थान बन जाते हैं. इस्लाम में सबसे मजबूत या खतरनाक मुरीद जिन्न को माना जाता है. इस जिन्न की आवाज़ भारी होती है. जिससे लोग जिन्न की आवाज़ सुनते ही थर थर कांपने लग जाते है. अल्लाहदीन की कहानी में इसी मुरीद जिन्न को दिखाया गया है. 

जब आप जिन्न का अमल करते है, तब आपको डर लगेगा, क्योंकि आपको डरावनी शक्तियों का अहसाह होगा. आपको ऐसा लगेगा कि कोई आपके पास है, और आपको देख रहा है. इसलिए आपको इन सब बात को ध्यान में रखकर और बिना डरे अमल को पूरा करना है. अमल के दौरान अगर आप हिसार नही करते है, तो जिन्न आपके सामने जल्द ही हाज़िर हो जायेगा. अगर आपको डर लगता है, की जिन्न आपको नुक्सान पहुँचायेगा, तो आप हिसार कर सकते है.

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *