Jinnat Ko Bulane Ka Tarika In Hindi

Jinnat Ko Bulane Ka Tarika In Hindi

Jinnat Ko Bulane Ka Tarika In Hindi

Jinnat Ko Bulane Ka Tarika In Hindi, “If you are afraid of Jinnat, then you should not do this practice at all. Before practicing Jinnah, it is very important for you to know about Jinnat. People have some questions, Jinn and Jinnat are different, but the fact is, both are the same, but people call them by different names.

It is said that there is always victory in front of fear, but here there will be victory in front of fear. This is the fear in the heart of many people, Jinnat asks harm to humans. But it is not so, if you befriend or control Jinnat, then Jinnat will not pose any threat to you.

Today we will tell you the way and implementation to call Jinnat. Jinnat will talk to you after finishing this practice. And only you will see. Do not tell any person about this action of yours. All you have to do is quietly end this practice.

Jinnat Ko Bulane ka Amal

People ask me, how are Jinnat in appearance, then Jinnat is very scary and scary in appearance. It is very important to have a strong heart to do this practice. You have to inculcate the desire to attain Jinnat in you. When you do it with confidence, Insha Allah Jinnat will stand in front of you.

  1. You have to wear pink colored clothes on the day of implementation.
  2. First of all, you have to give zakat to any of your poor.
  3. You can start this practice on any day or night. But the time has to be done only at 3 o’clock in the night or 3 o’clock in the afternoon.
  4. Give fragrance to the room where you are going to execute it with rose flowers and perfume.
  5. Durood-e-Pak has to be read 7-7 times in the beginning and at the end.
  6. After that one has to sit on a white cloth, and read it Ya Wadudu Ya Sabu 621 times.

This practice has to be continued continuously for 7 days. The implementation should be at the same time, the same place. Which is going to be 7 days. You will start seeing Jinnat. Seeing them, you do not have to be afraid at all. If you get scared of Jinnah even a little bit, then Jinnat will never come back to you. Special care has to be taken of this. If you feel more afraid, then you can do it by living with any person or your friend.

अगर आपको जिन्नात से डर लगता है, तो आप इस अमल को बिलकुल न करे. जिन्नात का अमल करने से पहले आपको जिन्नात के बारे में जानना बहुत जरुरी है. लोगो के कुछ सवाल होते है, जिन्न और जिन्नात अलग-अलग होते है, लेकिन हक़ीक़त यह है, की दोनों एक ही है, लेकिन लोग इन अलग-अलग नाम से बुलाते है.

कहते है, की डर के आगे हमेशा जीत होती है, लेकिन यहाँ डर के आगे जिन्नात होगे. बहुत सारे लोगो के दिल में डर यही होता है, जिन्नात इंसानों को नुकसान पूछते है. लेकिन ऐसा नहीं है, अगर आप जिन्नात से दोस्ती या उसको काबू में कर लेते है, तो जिन्नात से आपको कोई खतरा नहीं होगा.

आज हम आपको जिन्नात को बुलाने का तरीका और अमल बतायेगे. इस अमल को खत्म करने के बाद जिन्नात आपसे बात करेंगे. और सिर्फ आपको ही दिखाई देगा. अपने इस अमल के बारे में किसी भी शक्श को नही बताना है. बस आपको चुप चाप इस अमल को खत्म करना है.

जिन्नात को बुलाने का अमल

लोग मुझसे पूछते है, की जिन्नात दिखने में कैसे होते है, तो जिन्नात दिखने में बहुत भयानक और खौफनाक होते है. इस अमल को करने के लिए दिल का मजबूत होना बहुत जरुरी है. आपके अंदर जिन्नात को पाने का जनून पैदा करना है. जब अमल को यकीन के साथ करेंगे, तो इंशा अल्लाह जिन्नात आपके सामने खड़े होगे.

  • अमल के दिन अपने गुलाबी रंग के वस्त्र पहनने है.
  • सबसे पहले अपने किसी गरीब को ज़कात देनी है.
  • इस अमल को आप किसी भी दिन या रात को शुरू कर सकते है. लेकिन वक़्त रात के 3 भजे या दोपहर के 3 भजे ही करना है.
  • जिस रूम में अमल करने वाले है, उसमे गुलाब के फूल और इत्र से महका दे.
  • शुरू और आखिर में 7-7 बार दुरूद ए पाक पढना है.
  • उसके बाद किसी सफ़ेद कपडे पर बैठ जाना है, और या वुदूदू या सबु 621 बार इसको पढ़ना है.

इस अमल को अपने 7 दिन तक लगातार जारी रखना है. अमल उसी वक़्त, जगह वही होनी चाहिए. जिसे ही 7 दिन होने वाले होगे. जिन्नात आपको दिखाई देना शुरू हो जाएंगे. उनको देख कर आपको बिलकुल भी नहीं डरना है. अगर आप थोड़ा सा भी जिन्नात से डर जाते है, तो जिन्नात आपके पास लौटकर कभी नहीं आएगा. इस बात का खास ध्यान रखना होगा. अगर आपको ज्यादा डर लगता है, तो आप किसी भी इंसान या अपने दोस्त के साथ रह कर भी अमल कर सकते है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *